जियालाल का फलसफा

कामरेड जियालाल पांडेय मेरे पुराने मित्र हैं। इस शहर के आला अफसर हैं। फुरसत में खूब शराब पीते हैं। छक…

बच्चों का कितना सेफ कर पाया ‘यूनिसेफ’

बच्चे राष्ट्र के भविष्य हैं। इनकी स्थिति देश की गति और समृद्धि का प्रतीक होती है। इसी सिद्धांत को दृष्टि…

जरूरत है मजदूर आंदोलन को नए सिरे से समझने की

01 मई 1886 की शिकागो घटना को समाप्त हुए एक शताब्दी से अधिक हो रहा है। इस बीच पूरी विश्व…

कांग्रेस में चल रही अब भी वह तकरार

कांग्रेस में चल रही अब भी वह तकरार एका जैसे बिन्दु पर नहीं कोई तैयार नहीं कोई तैयार कि खतरा…

कांग्रेस में हो रही पग-पग की तकरार

कांग्रेस में हो रही पग-पग की तकरार पी.एम. से नाराज हैं अर्जुन और पवार अर्जुन और पवार खेल अब बड़ा…

गुण्डे काबिज हो रहे, सत्ता हो गयी भ्रष्ट

गुण्डे काबिज हो रहे, सत्ता हो गयी भ्रष्ट इनके  चक्कर में फंसी, जनता हो गयी त्रस्त जनता हो गयी त्रस्त,…

दया, धर्म और प्रेम की रही न कोई बात

दया, धर्म और प्रेम की रही न कोई बात अपने-अपने स्वार्थ में करें घात-प्रतिघात करें घात-प्रतिघात दुष्ट मेनन दोउ भाई…

सोती जो सरकार है, रोता उसका देश

सोती जो सरकार है, रोता उसका देश सुलग रही चिंगारियां, विलख रहा परिवेश विलख रहा परिवेश हालत बहुत बुरी है…

कांग्रेसी झण्डागीत और पार्षद जी

कांग्रेस अधिवेशन की बात चलते ही 1925 से बराबर सभी अधिवेशनों में गाया जाने वाला झण्डागीत के रचयिता का नाम…